कैंसर न्यूज़

क्‍या है सर्वाइकल कैंसर ? मल्टीपल सेक्शुअल पार्टनर्स से बचें .

सर्वाइकल कैंसर के कई कारण हो सकते हैं. पहली वजह ह्यूमन पैपिलोमा वायरस (एचपीवी) है जो महिलाओं के निचले जेनिटल ट्रैक्ट में होने वाला बहुत ही आम यौन संचारित वायरल इन्फेक्शन के कारण होता है.

read more ..

यदि आप अपने रूटीन पर ध्यान नहीं दे पा रहे है तो इन लक्षणों पर ध्यान दें ।

हमे अपने हर दिन के रूटीन पर ध्यान देना होगा की खाना कब खाते है कितना खाते है और उस खाने को पचाने क लिए हम क्या करते है। हमे यह भी ध्यान रखना होगा कि हम कितना नशा करते है

read more ..

पहली बार, ब्रेस्ट कैंसर अब दुनिया भर में सबसे अधिक होने वाली बीमारी बन गई है.

ब्रेस्ट कैंसर फेफड़ों के सबसे आम कैंसर की बीमारी से आगे निकल गया है. वैश्विक स्वास्थ्य एजेंसी के कैंसर विशेषज्ञ आंड्रे इल्लाबवी ने संयुक्त राष्ट्र की ब्रीफिंग में कहा,

read more ..

कैंसर रातों-रात नहीं होता। खानपान और रहन-सहन की कुछ आदतों में बदलाव करें।

फ्रेड हचिन्सन कैंसर रिसर्च सेंटर में हुई स्टडी के अनुसार, जो लोग हफ़्ते में एक या दो बार से अधिक, तले हुए खाद्य पदार्थ, जैसे-फ्रेंज फ्राइज़, तली हुई मछली इत्यादि का सेवन करते हैं,

read more ..

महिलाओं को इन पांच तरह के कैंसर से बचना चाहिए।

कैंसर के इलाज में देरी की जाए तो मनुष्य की जान भी जा सकती है। कैंसर पुरूष या महिला किसी को भी अपनी चपेट में ले सकता है और केवल इसके लक्षणों की पहचान करके की समय पर इलाज शुरू किया जा सकता है।

read more ..

कैंसर होने के ज्यादातर कारण इन्हीं में से होते है।

डराने के लिए कैंसर का नाम ही काफी है। यह डर इतना है कि लोग इस बीमारी के लक्षणों को नजरअंदाज कर देते हैं और कैंसर खतरनाक हो जाता है। अगर मरीज लक्षणों पर गंभीरता से ध्यान दें और पता चलते ही उसका इलाज कर

read more ..

आप अभी गुटखा और धूम्रपान कर रहे है तो 10 से 15 साल बाद कैंसर होने का खतरा अधिक है।

तंबाकू सेवन करने वाले लोगों में इसका इस्तेमाल शुरू करने के 10-20 साल बाद ही कैंसर का पता चलता है। हमारे पास ऐसे ग्रामीण युवा आ रहे हैं जो स्मोकलेस टोबैको का इस्तेमाल करते हैं जैसे पान, तंबाकू, खैनी,

read more ..

महिलाओं में कैंसर

'दि ग्लोबल बर्डन ऑफ़ डिज़ीज़ स्टडी' (1990-2016) के अनुसार भारत में महिलाओं में सबसे ज़्यादा स्तन कैंसर के मामले सामने आए हैं.

read more ..

संजय दत्त के लंग कैसर के लिए कीमोथेरेपी का पहला राउंड पूरा हो चुका है।

वहीं अब जल्द ही यानी इस हफ्ते उनके कीमोथेरेपी का सेकेंड राउंड शुरू होगा। ये बात फिलहाल कोई नहीं जानता कि उन्हें अभी अपने इलाज के दौरान कितनी बार कीमोथेरेपी से गुजरना पड़ेगा।

read more ..

पटना के स्टेट कैंसर इंस्टीट्यूट में जल्द शुरू होगा उपचार।

इंदिरा गांधी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (आइजीआइएमएस) के स्टेट कैंसर इंस्टीट्यूट में जल्द उपचार शुरू होगा। इसे अप्रैल 2020 में ही आरंभ होना था, लेकिन कोरोना के कारण अटक गया।

read more ..